गोवा ट्रिप – 2

कनिका दीदी की चुदाई के बाद हमदोनो सो गए. पर रात ३ बजे हॉल से आवाज आने लगी जिससे मेरी नींद टूट गयी. मैंने देखा कनिका दीदी का नंगा संगेमरमर सा बदन मेरे बिस्तर पर था … उसकी बड़ी सी गांड पूरी नंगी दिख रही थी मेरा मन किया की फिर से दीदी को चोदा जाये. पर बाहर से आती हुई आवाज से मैं डिस्टर्ब हो गया और कमरे से बाहर निकल गया … मैंने देखा की गरिमा दीदी हॉल में टीवी देख रही थी.
मैं: गरिमा दीदी आप इतनी रात को क्या कर रही हो
गरिमा: ओह्ह्ह्हह आकाश सॉरी मैंने तुझे जगा दिया
मैं: कोई बात नहीं दीदी … आप सोई नहीं अभी तक
गरिमा: हाँ आकाश नींद नहीं आ रही थी

मैं गरिमा दीदी के पास ही सोफे में जाकर बैठ गया. गरिमा ने उस समय एक वाइट टीशर्ट और छोटी सी शॉर्ट्स पहनी थी. गरिमा ने अपनी मोटी मोटी गोरी टाँगे टेबल पर रखी हुई थी जो बहुत ही चिकनी और सेक्सी थी. ३६ के भरे हुए चुच्चे टाइट टीशर्ट में ग़दर मचा रहे थे. मैं ऊपर से निचे तक गरिमा की गदरायी जवानी को देख रहा था.
मैं: क्या बात है आप सो क्यों नहीं रही हो
गरिमा: क्या बताऊ यार वो अजय ने सारा मूड ही ख़राब कर दिया
मैं: अजय ने क्या किया दीदी
गरिमा: अरे यार अजय ने ये वैलेंटाइन डे का प्लान बनाया था और वो खुद ही रूम में जाते ही सो गया
मैं: ओह्ह्ह्हह ये बात है
गरिमा: और नहीं तो क्या साला पिता ही क्यों है इतना जब कण्ट्रोल नहीं होता … बिना कुछ किये सो गया … मेरा तो पूरा मूड ही ख़राब कर दिया
गरिमा: वहा कनिका और श्रुति चुद कर चैन की नींद सो भी गया और मैं यहाँ टीवी देख रही हूँ. मैं आयी थी तेरे कमरे के पास … कनिका की सिसकारियों की आवाज से पता चल रहा था मस्त चुदाई की है तूने उसकी
मैं: हाँ दीदी को रगड़ रगड़ कर चोदा है मैंने … मस्त सेक्सी पीस है …. अभी जाकर एक राउंड और ठोकूंगा दीदी को
गरिमा: बस साले तू बस अपनी बहन को ही चोद.. तू मुझे भी तो दीदी बोलता है .. क्या मैं सेक्सी नहीं हूँ …
मैं: नहीं दीदी आप तो बहुत सेक्सी हो … वो साला अजय चूतिया है इतनी मस्त माल के होते हुए सो गया .. अगर आप मेरे बिस्तर में होती तो मैं आपको पूरी रात नंगी करके चोदता…
गरिमा: आआह्ह्ह्हह आकाश फिर चल ना मेरे साथ भी वैलेंटाइन डे मना ले …
मैं: ठीक है दीदी
मैंने अपना हाथ गरिमा की चिकनी टांगो पर रख दिया और उसे सहलाने लगा … गरिमा मुझे किश करने लगी…दीदी की सांसे तेज हो चुकी थी और उनके बड़े बड़े संतरे सांसो के साथ उछल रहे थे. मैं भी गरिमा को चूमने लगा और मेरा हाथ दीदी की भारी चुत्तड़ो पर था जिसे मैं दबा रहा था … बहुत ही बड़ी और सॉफ्ट गांड थी. मैं किश करते हुए गरिमा की चूचियों को मसल रहा था. दीदी की चूचियां बड़े बड़े संतरो जैसे थी मुलायम और भरी हुई… आआह्ह्ह्हह्ह आकाश जोर से दबा भाई … ओह्ह्ह्हह्ह
फिर मैंने दीदी की टीशर्ट उतर दी, और शॉर्ट्स भी उतार दिया. अब दीदी सिर्फ रेड कलर की एक सेक्सी ब्रा और रेड पैंटी में थी. दीदी की गदरायी जवानी छोटी सी ब्रा और पैंटी नहीं छुपा पा रही थी. ब्रा में कैद दीदी की गोरी गोरी बड़ी चूचियां बहुत ही सेक्सी लग रही थी. आधे से ज्यादा चूचियां ब्रा से बाहर दिख रही थी … मैं दीदी की नैक और क्लीवेज लाइन को चुम रहा था …फिर मैंने पीछे से ब्रा का हुक खोल दिया … ब्रा निकलते ही दो परफेक्ट साइज के बड़े चुच्चे मेरे आँखों के सामने थे.. मैंने एक चूची का निप्पल मुंह में लिया और चूसने लगा … और दूसरी चूचियों को जोर जोर से दबा रहा था …. आअह्ह्ह्हह उउइइइइ भाई मजा आ गया और चूस इन आमो को …. आह्ह्ह्हह्ह
मैं बहुत देर तक दीदी की चूचियों से खेलता रहा … फिर मैं उसकी कमर को चूमते हुए निचे बढ़ रहा था … मैंने देखा दीदी की चड्डी पूरी गीली हो चुकी थी … मैं ऊपर से ही दीदी की बूर को थोड़ा सहला दिया … दीदी की आहे निकल गयी … ओह्ह्ह्हह आकाश …उधर मत छू बहुत आग लगी है भाई …
मैंने दीदी की चड्डी को उतार दिया और उसकी बूर चूसने लगा … आआआ उउउउउउ भाई ये क्या कर रहा है …. मैं गरिमा की बूर को चूसते हुए उसकी भारी चुत्तड़ो को भी दबा रहा था … ओह्ह्ह्हह भाई अब कण्ट्रोल नहीं हो रहा है… आ जल्दी से पेल दे अपना लंड मेरी चुत में .. ठीक है दीदी रेडी हो जाओ लंड लेने के लिए
मैंने सोफे में दीदी को लेटाया और उसकी दोनों टांगो को फैलाया. लंड अब दीदी की चुत के निशाने पर था .. मैंने थोड़ा सा धक्का मारा और लंड गरिमा की बूर फाड़ता हुआ अंदर प्रवेश हो गया … मुझे लगा की मेरा लंड की गरम भट्टी में घुस गया हो … दीदी की गरम चुत ने मेरे लंड को जकड रखा था … मैं धीरे धीरे अपना लंड पेलने लगा और थोड़ी देर की धक्कम पेलाई में मैंने अपना लंड पूरा गरिमा की चुत में डाल दिया… शुरू में दीदी बहुत चिल्लाई पर थोड़ी देर बाद वो रिलैक्स हो गयी ..
फिर मैं दीदी को ताबड़ तब चोदने लगा… इतनी सेक्सी माल को चोदने का अलग ही आनंद था … ओह्ह्ह्ह गरिमा मेरी जान कैसा लगा मेरा लंड…. आअह्ह्ह्ह आकाश तूने मुझे आज जन्नत के दर्शन करवा दिए… ऐसे ही पेलते रह मेरी चुत … ओह्ह्ह्हह दीदी कितने बड़े बड़े बॉल है आपके …
आह्ह्ह्ह भाई फक मी बेबी … और तेज चोद साले …मैं दीदी की हिलती हुई बड़ी बड़ी चूचियों को चूस चूस कर चोद रहा था … आह्ह्ह्हह्ह ओह्ह्ह्हह्हह आकाश गिव मी मोर डार्लिंग ….
उफ्फफ्फ्फ़ दीदी आप तीनो ही बहुत जबर माल हो … आअह्ह्ह्ह आकाश दो को तो चोद लिया तूने …. अब क्या श्रुति को भी चोदने की सोच रहा है क्या …
हाँ दीदी … श्रुति दीदी भी तो मस्त आइटम है… उसकी भी ठुकाई जरूर करूँगा मैं …
तू तो साला पूरा बहनचोद है … सब दीदी बोल बोल कर चोद रहा है ….
फिर दीदी और मैं सम्भोग की पोजीशन में आ गए… दीदी उछल उछल कर मेरे लंड पर बैठ रही थी . दीदी की दोनों टंगे मेरे कमर को जकड़ी हुई थी . दीदी मुझसे पूरी तरह लिपटी हुई थी और मैं उसे किश करते हुए चोद रहा था. दीदी की मॉनिंग अब तेज हो चुकी थी … मैं भी दीदी की बड़ी बड़ी चूचियों को दबा दबा कर दीदी को चोद रहा था .. मैं अब लम्बे लम्बे शॉट मार रहा था … हर शार्ट में दीदी की आहे तेज हो रही थी … ाहाहहहह आकाश … ओह्ह्ह्हह भाई …. मेरा गिरने वाला है भाई … थोड़ा और तेज मार
मैं अपना लंड बहुत तेजी से गरिमा की बूर में मार रहा था ….थोड़ी देर बाद हमदोनो फिनिश हो गए…
मैं गरिमा दीदी के साथ थोड़ी देर वही पर लेता रहा फिर मैं अपने कमरे में चला गया और गरिमा अपने कमरे में…

Comments