शीतल भाभी की टाइट बूर चोदी

हेलो दोस्तों मेरा नाम अजय है, मैं दिल्ली में पढाई कर रहा हूँ. मैं दिल्ली में अपने भैया और भाभी के साथ रहता हूँ. मेरी उम्र २३ साल है. भैया एक आईटी कंपनी में काम करते है और शीतल भाभी एक मार्केटिंग मैनेजर है. भाभी मुझे बहुत प्यार करती है. भाभी का फिगर बहुत जबरदस्त है ४०-३२-४० है. पूरा हरा भरा माल है.
भैया को काम के लिए ऑनसाइट जाना पड़ा यूरोप. भैया ने मुझे भाभी का ख्याल रखने बोला. सुरु में कुछ दिन ऐसे ही बीत गए.. मुझे रात में भाभी के कमरे से आवाजे आती थी.. अह्ह्ह्हह ओह्ह्ह्हह की.. मैंने एक बार खिड़की से देखा तो पाया भाभी मूठ मार रही थी. उसदिन मैंने भाभी को पहली बार नंगा देखा.. बहुत ही गदराया हुआ बदन था. उसके बाद मैं भाभी का फिगर ताड़ने लगा..भाभी भी मेरा ध्यान अपने पति की तरह रखने लगी.. भाभी शर्ट और स्कर्ट पहन कर ऑफिस जाती है.. उनकी छातियों का बड़ा उभर देखकर कोई भी उनकी चूचियों के साइज का पता लगा सकता है…तरबूज के जैसी बड़ी बड़ी रसीली चूचियां थी साली की और स्कर्ट में कसी हुई भारी गांड बहुत ही मादक लगती है.. अब मुझे शीतल भाभी एक चोदनीय माल लगती है.. भाभी भी अब जानबूझ कर अपने बदन की नुमाइस करती है मेरे सामने. ऑफिस जाते वक़्त हमेशा मुझे झुकझुक कर अपनी नंगी चूचियों के दर्शन करवाती है.. शर्ट के २-3 बटन्स हमेशा खुले रहते है जिससे उनका पूरा माल मुझे दिख जाता है. पहले वो नार्मल कपडे पहनती थी घर में.. पर आज कल ऑफिस से आने के बाद टाइट टीशर्ट और एकदम छोटे शॉर्ट्स पहनती है… घर में ब्रा नहीं पहनती है.. जिससे उसकी चूचियां टाइट टीशर्ट में बहुत बड़ी बड़ी लगती है और उसके निप्पल भी दिखने लगते है.. जब वो चलती है तो उनकी चूचियां ब्रा नहीं होने के कारण बहुत उछलते है… और वैसे ही उनकी बड़ी भारी गांड शॉर्ट्स में और भी सेक्सी लगती है.. भाभी की उम्र ३० साल है .. हाइट ५”८’ है गोरा रंग, भरा हुआ जिस्म और चौड़ा शरीर
कुछ दिनों बाद भाभी ने बोला की उन्हें अकेले डर लगता है इसलिए वो उन्ही के साथ सोये. अब मैं भाभी के साथ एक ही बिस्तर पर सोता हूँ. रात भर मैं उनकी गदरायी जवानी को ताड़ता हूँ, टाइट टीशर्ट में कैद उनकी चूचियां, शॉर्ट्स में फसी हुई विशालकाय चुत्तड़ और चिकनी नंगी टाँगे उफ्फ्फ रात काटना मुश्किल हो जाता है. रात में जब मैं सो जाता हूँ तब भाभी अपनी बूर में फिंगरिंग करती है.. और अपनी चूचियों को खूब मसलती है.. शायद उनको चुदाई की याद आती है. कई दिनों तक मैंने ये देखा.. एक दिन मैंने सोचा की आज भाभी को पकड़ता हूँ.. मेरे सोने के बाद, भाभी फिर से मूठ मारने लगी.. उसकी आँखे बंद थी और वो बहुत तेजीसे उंगली डाल रही थी.. मैंने भाभी को बोला की मैं मदद करता हूँ.. भाभी अचानक मुझे देख कर अपना बूर ढकने लगी.. मैंने भाभी को समझाया…

मैं: लाओ भाभी मैं आपकी मदद कर देता हूँ..
शीतल: अजय नहीं…

मैंने भाभी की चादर हटा दी.. अब मुझे उनकी बूर दिखने लगी.. जो की बहुत ही सुन्दर और चिकनी थी.. मैंने अपनी उंगली भाभी की बूर में डाली .. उनकी चीख निकल आयी और फिर मैं तेजी से फिंगरिंग करने लगा… अह्ह्ह्हह्हह … उईईईईई ईईईई की आवाजे निकालनी लगी.. थोड़ी देर में मैंने भाभी को झाड़ दिया…

शीतल: चल अजय अब सो जा.. तूने मेरा काम कर दिया..
मैं: भाभी अभी काम पूरा कहा हुआ है…

मैं भाभी के ऊपर चढ़ गया और उन्हें किश करते हुए उनकी चूचियों को दबाने लगा.. बहुत ही सॉफ्ट और बड़े माम्मे थे.. मैं बहुत जोर जोर से चूचियों को मसल रहा था…

शीतल: अजय तेरा इरादा क्या है…
मैं: भाभी मेरा इरादा तो आपके साथ सुहागरात मनाने का है..
शीतल: अह्ह्ह्हह्ह्ह्ह अजय पर ये गलत है…
मैं: साली रंडी अभी जब तेरे बूर का पानी निकाला तो गलत नहीं था.. बहुत दिनों से देख रहा हूँ अपना बदन दिखा दिखा कर मेरे लंड खड़ा कर रही हो
शीतल: अह्ह्ह्हह ऊऊह्ह्हह्ह ऐसा नहीं है अजय…
शीतल: साली रांड झूट बोलती है… अगर ऐसा नहीं है तो ब्रा कहा है तेरा ऐसे टाइट टीशर्ट पहन कर अपने आमों को दिखती हो और अब मैं इन्हे दबा रहा हूँ तो नाटक कर रही हो…

मैंने उनकी टीशर्ट उतर दी और उनकी तरबूजों को खूब मसला और चूसा. फिर मैंने अपनी पैंट उतर दी, मेरा ९” का लंड देखकर भाभी की मुँहमे पानी आ गया…

शीतल: ओह्ह्ह अजय बहुत तगड़ा लंड है तेरा..
मैं: आ गया ना मुंह में पानी.. बोल रंडी खाएगी की नहीं मेरा लंड…
शीतल: आअह्ह्ह्हह अजय मैं तो कब से चुदना चाहती थी तेरे से.. अब चल देर ना कर .. और अपनी भाभी की बूर में डाल दे अपना लंड

भाभी की बूर तो पहले से नंगी थी.. मैंने लंड धीरे से भाभी की बूर में पेल दिया.. और भाभी को चोदने लगा.. भाभी भी बहुत प्यासी थी.. बहुत मजे लेकर चुद रही थी…

शीतल: अह्ह्ह्हह अजय बहुत प्यासी हूँ मैं… फ़क मी
मैं: उफ्फफ्फ्फ़ मेरी रांड भाभी टेंशन ना लो .. आज मैं तेरी बूर का भोसड़ा बना दूंगा
शीतल: ओह्ह्ह्हह उईईईईई ऐसे ही चोदते रह अपनी भाभी को

मैं ताबड़तोड़ भाभी को चोद रहा था… मेरा लंड दनादन भाभी की टाइट बूर में घुस रहा था.. हवा में झूलती हुई उनकी बड़ी बड़ी चूचियों को मैं चूस चूस कर चोद रहा था.. मेरा लंड किसी पिस्टन की तरह उसकी बूर में अंदर बाहर हो रहा था … भाभी बहुत लाउड मॉनिंग कर रही थी..

शीतल: ओह्ह्ह्हह्ह अजय माय डार्लिंग गिव मी मोर … कीप फकिंग मी.. मेक माय पुसी कम…
मैं: आअह्ह्ह्हह शीतल मेरी जान क्या टाइट बूर है तेरा… इस बदन को चोदने में बहुत मजा आ रहा है…
शीतल: ओह्ह्ह्हह्ह अह्हह्ह्ह्ह हनी … आई नीड मोर…. फ़क मी हार्डर हनी.. आई ऍम योर स्लट.. चोद मुझे.. मैं झड़ने वाली हूँ

मैं भाभी को तेजी से चोदने लगा… करीब एक घंटा मैंने भाभी को चोदा और हमदोनो झड गए.. मैंने पूरा मूठ उसकी बूर में गिरा दिया.. फिर हम लिपट कर सो गए…

Comments